शेयर मार्केट पर पुस्तकें

निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह

निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह
जरूरत के हिसाब से हो निवेश
-तुरंत रिटर्न चाहिए सीनियर सिटीजन निवेश (अगर आप 60 साल से अधिक हों या सेवानिवृत 58
साल से अधिक हों, हर तिमाही मिलेगी पेंशन)
-तीन साल में रिटर्न ईएलएसएस फंड
-5-6 साल में रिटर्न एनएससी, बैंक एफडी, पीपीएफ
-10 साल में रिटर्न एनएससी, पीपीएफ
-10 साल के बाद यूलिप और बीमा योजनाएं

म्यूचुअल फंड में निवेश से भी बचता है टैक्स

invest in mutual fund save your tax

हममें से बहुत से लोग अपनी कर बचत निवेश से जुड़े फैसले ऐन वक्त में लेते हैं। चूंकि, अब कंपनियों ने अपने कर्मचारियों से निवेश घोषणा (इनवेस्टमेंट डिक्लेरेशन) के प्रमाण मांगने शुरू कर दिए हैं, ऐसे में कई लोग निवेश करने की तैयारी निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह करने लगे हैं। निवेशकों के लिए इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ईएलएसएस) या म्यूचुअल फंड की टैक्स सेविंग स्कीम भी अच्छा निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह विकल्प हो सकती हैं।

म्यूचुअल फंड जैसे बाजार से जुड़े निवेश में पैसा लगाने से पहले निवेशक को यह फैसला करना पड़ेगा कि जब शेयर मार्केट अपने उच्चतम स्तर के करीब है, क्या ऐसे में इन स्कीम में पैसा लगाने का तुक बनता है। म्यूचुअल फंड विशेषज्ञों का कहना है कि इन स्कीमों में निवेश से आपको आयकर बचाने में तो मदद मिलती ही है, आपको इन्हें शेयरों में निवेश के माध्यम के रूप में देखना चाहिए।

Stock Market में Invest करने से पहले इन Factors को रखें ध्यान में, इन Tools की ले सकते हैं मदद

पुराने दिनों में हम ट्रेडिंग या इंवेस्टमेंट के लिए

स्टॉक मार्केट में 2020-21 में जबरदस्त उछाल देखने को मिला। इसी दौरान बड़ी संख्या में नए निवेशकों ने डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाए और शेयर मार्केट में निवेश शुरू किया है। BSE Sensex में 100 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल देखने को मिला है।

नई दिल्ली, निराली शाह। स्टॉक मार्केट में 2020-21 में जबरदस्त उछाल देखने को मिला। इसी दौरान बड़ी संख्या में नए निवेशकों ने डिमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवाए और शेयर मार्केट में निवेश शुरू किया है। BSE Sensex में 100 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल देखने को मिला है और महज 139 दिन में रजिस्टर्ड यूजर्स की तादाद छह करोड़ से सात करोड़ हो गई। ऐतिहासिक आंकड़ों को देखें तो निवेशकों की संख्या तीन से चार करोड़ होने में 939 दिन लगे। वहीं चार से पांच करोड़ होने में 652 दिन का समय लगा। इस तरह निवेशकों की तादाद पांच करोड़ से छह करोड़ होने में 241 दिन का समय लगा।

Gold Rate में आई भारी गिरावट, अभी करें गोल्ड में इन्वेस्ट, हो जाएंगे मालामाल, जानिए क्या है सोने का भाव

Published: June 12, 2021 4:20 PM IST

Gold Hallmarking New Guidelines, gold hallmarking in India, gold prices today

Gold Rate: बीते दिनों से सोने की कीमतों में बढ़ने-घटने का क्रम जारी है , लेकिन इस बीच सोने की कीमत में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. शुक्रवार को मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर गोल्ड की कीमत (Gold Price) 318 रुपये प्रति 10 ग्राम की गिरावट के साथ 48,880 रुपये पर बंद हुई. ऐसे में एक्सपर्ट्स की मानें तो सोने के भाव में यह गिरावट बुलियन निवेशकों के लिए अच्छी खबर है. उनका कहना है कि सोने की कीमते कंसोलिडेशन के दौर से गुजर रही हैं और आगे यह 48,500 रुपये प्रति 10 ग्राम का स्तर भी छू सकती हैं.

Also Read:

बुलियन एक्सपर्ट्स (Bullion Expert) का कहना है कि किसी भी गिरावट में सोने में निवेश करना चाहिए. सोना दिसंबर 2021 के अंत तक 53,500 रुपये प्रति 10 ग्राम का स्तर छू सकता है.

मोतीलाल ओसवाल के Amit Sajeja का कहना है कि गोल्ड की कीमतें कंसोलिडेशन के दौर से गुजर रही है और यह दौर अगले 1 महीने तक जारी रहता दिख सकता है। इस दौरान सोना 48,300 से 49,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के रेंज में रह सकता है. ऐसे में गोल्ड निवेशकों ने सलाह दी है कि इस गिरावट को निवेश का मौका मानते हुए हर गिरावट पर सोने की खरीद करें. इससे मीडियम टर्म में गोल्ड का आउटलुक काफी अच्छा नजर आ रहा है और आगे मीडियम टर्म में सोना 51,000 रुपये का स्तर आसानी से छू सकता है.

उन्होंने आगे कहा कि यूएस डॉलर में कमजोरी, सोने में कमजोरी की मुख्य वजह है. वर्तमान में यूएस डॉलर साइडवेज नजर आ रहा है और करेंसी मार्केट में यह 89.50 से 91 के बीच कारोबार कर रहा है.

Mentha Oil Rate Mentha Oil Price : नवम्बर में 1300 रुपए पार जा सकते हैं मेंथा तेल के दाम, जानें- Mint Oil Price

Mentha Oil Rate Mentha Oil Price- कमोडिटी एक्सपर्ट्स का मानना है कि घरेलू और विदेशी बाजारों में मेंथा तेल की डिमांड बढ़ने से नवम्बर महीने में Mentha Oil Rate प्रति किलोग्राम 1300-1400 रुपए प्रति किलो तक जा सकता है। मेंथा तेल में निवेशकों के लिए एक्सपर्ट्स की सलाह है कि बाजार के उतार-चढ़ाव से परेशान न हों।

mentha oil rate mentha oil price mint oil rate n price

लखनऊ. Mentha Oil Rate Mentha Oil Price- उत्तर प्रदेश में हर दिन मेंथा तेल के दाम घटते बढ़ते हैं। शुक्रवार को Mentha Oil Rate प्रति किलोग्राम 940 रुपए रहा। कमोडिटी एक्सपर्ट्स का मानना है कि घरेलू और विदेशी बाजारों में मेंथा तेल की डिमांड बढ़ने से नवम्बर महीने में Mentha Oil Rate प्रति किलोग्राम 1300-1400 रुपए प्रति किलो तक जा सकता है। मेंथा तेल में निवेशकों के लिए एक्सपर्ट्स की सलाह है कि बाजार के उतार-चढ़ाव से परेशान न हों। धैर्य के साथ बाजार पर नजर बनाये रखें, जल्द ही Mint Oil Price में इजाफा होगा।

Small-cap Stocks Kya Hai? : विशेषताएं, जोखिम और किसे निवेश करना चाहिए? जानिए

Small-cap Stocks in Hindi: हाल ही में म्यूचुअल फंड द्वारा नए स्मॉल कैप स्टॉक को जोड़ा गया है। अब ये Small-cap Stocks Kya Hai? (What is Small-cap Stocks in Hindi) इस बारे में आप अभी तक अनभिज्ञ है तो इस लेख को अंत तक पढें। आपको Small-cap Stocks से निवेशकों के लिए क्या है एक्सपर्ट्स की सलाह संबंधित सभी तरह की जानकारी मिल जाएगी।

Small-cap Stocks in Hindi: लंबी अवधि में बड़ा रिटर्न हासिल करना हो तो अकसर एक्सपर्ट्स मिड कैप (Mid Cap) और स्मॉल कैप (Small Cap) फंड्स में निवेश की सलाह देते हैं। अगर आप शुरुआती चरण में है तो Small-cap में ही निवेश करने की सलाह दी जाती है, पर क्या सभी इन्वेस्टर्स के लिए जोखिम उठाने वाले इन फंड्स को चुनना सही है? ऐसे ही सवालों के जवाब जानने के लिए इस लेख को पढें। इस लेख में आप विस्तार से जनेंगे कि Small-cap Stocks Kya Hai? और इसमें जोखिम कितना है और किन्हें निवेश करना चाहिए।

रेटिंग: 4.40
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 383
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *