शेयर मार्केट पर पुस्तकें

मुहूर्त ट्रेडिंग का समय

मुहूर्त ट्रेडिंग का समय
इस साल दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग 24 अक्टूबर 2022 को होने वाली है। BSE और NSE कि नोटिस के अनुसार इस साल 24 अक्टूबर को शाम 6.15pm से 7.15 के बिच एक घंटे का मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन होगा।

What is Muhurat Trading in Hindi Image, What is Muhurat Trading Text

Stock Market Muhurat Trading 2021: दिवाली पर शेयर मार्केट में शानदार तेजी, सेंसेक्स 60 हजार तो निफ्टी 17900 के ऊपर हुआ बंद

Stock Market news

Stock Market News Today: आज 4 नवंबर 2021 को दिवाली (Diwali) पर्व पर मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन (Diwali Muhurat Trading) के लिए शेयर मार्केट (BSE और NSE) शाम के 6:15 मिनट से शुरू होकर शाम 7:15 मिनट तक 1 घंटे के लिए खुला जिसमें निवेशकों ने जमकर खरीदारी की।

मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में सवंत 2078 की शुरुआत शानदार रही । बीएसई का सेंसेक्स 436.05 अंक की बढ़त के 60207.97 पर खुला तो वहीं एनएसई का निफ्टी 17,935.05 पर खुला।

अंत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 295.70 अंक (0.49 फीसदी) उछलकर 60067.62 पर बंद हुआ और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) का निफ्टी 91.80 अंक (0.51 फीसदी) ऊपर 17916.80 पर बंद हुआ। मुहूर्त ट्रेडिंग का समय मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान सेंसेक्स के सभी सेक्टरों में आज जमकर खरीदारी देखने को मिली।

दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग की टाइमिंग 04 नवंबर 2021

दीपावली मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन के दौरान इस एक घंटे के मुहूर्त ट्रेडिंग में ज्यादातर निवेशक शेयर खरीदते हैं । कुछ निवेशकों का मानना है की दिवाली के इस विशेष मुहूर्त में ग्रहों की स्थिति कुछ ऐसी होती है की जिसमें निवेश करना फायदे का सौदा होता है । हालांकि हम आपको सलाह देते है की दिवाली मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन के समय आपको भावनाओं में आकर अधिक शेयरों की खरीदारी करने से बचना चाहिए ।

आइये जाने ! दीपावली का मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन शेयर बाजार का शेड्यूल क्या था ?

मुहूर्त ट्रेडिंग क्या है ?

मुहूर्त ट्रेडिंग एक घंटे की ट्रेडिंग है, जिसे दिवाली के दिन शुभ माना जाता है। निवेशकों का मानना ​​है कि अगर कोई इस एक घंटे के दौरान व्यापार करता है, तो उसके पास पूरे साल धन कमाने और समृद्धि प्राप्त करने का बेहतर मौका होता है। Muhurat Trading के दौरान इस एक घंटे में निवेशक अपना छोटा निवेश करके बाजार की पुरानी परंपरा को निभाते हैं।

यह ट्रेडिंग equity, equity futures and options, currency and commodity markets तीनों में होती है। इस बार दिवाली 24 अक्टूबर 2022 Monday को है। इस दिन बाजार में शाम 6.15 से 7.15 तक Muhurat Trading की जा सकती है। शाम 6 बजे से लेकर 6.10 बजे तक pre-open trading Sessions होगा।

Muhurat Trading Time Image, Muhurat Trading Time Table

मुहूर्त ट्रेडिंग में क्या होता है ?

दिवाली के दिन, NSE और BSE दोनों सीमित समय के लिए Trading की अनुमति देते हैं। आमतौर पर, Session को इसमें विभाजित किया जाता है:

Block Deal Session :

जहां दो पक्ष एक निश्चित कीमत पर खरीदने या बेचने के लिए सहमत होते हैं।

Pre - Open Session :

जहां Stock Exchange संतुलन मूल्य निर्धारित करता है।

Normal Market Session :

एक घंटे का Session जहां अधिकांश व्यापार होता है।

Call Auction Session :

जहां illiquid securities का trade होता है।

Closing Price:

जहां Traders or Sellers Closing price पर market order दे सकते हैं।

Muhurat Trading पांच दशक पुरानी परंपरा है -

Share Market में Diwali के दिन एक घंटे के लिए Muhurat Trading की परंपरा पांच दशक पुरानी मानी जाती है। Muhurta Trading Bombay Stock Exchange (BSE) मुहूर्त ट्रेडिंग का समय में 1957 और National Stock Exchange (NSE) में 1992 में शुरू हुआ था। इस मुहूर्त के विषय में विशेषज्ञ इसको काफी पुराना परंपरा मानते हैं।

यदि आप निवेश करने के लिए एक अच्छे दिन की शुरुआत करना चाहते हैं, तो यह एक शुभ समय हो सकता है समृद्धि और धन पर केंद्रित उत्सव की भावना के साथ, निवेशक या व्यापारी आशावादी होते हैं, और इसलिए बाजार आमतौर पर तेज होता है और व्यापारिक मात्रा अधिक होती हैं।

नए investor के लिए Share Market में कदम रखना plus point होती हैं, भारत मे इस दिन निवेशको मे शेयर खरीदने के लिए काफी उत्साह देखा जाता है, क्योंकि Indian Culture में यह विशेष मुहूर्त माना जाता है। इस दिन कुछ निवेशक छोटे इन्वेस्टमेंट और कुछ निवेशक बड़े इन्वेस्टमेंट करते हैं। इस दिन नए investor के लिए Share Market में कदम रखना अच्छा माना जाता है।

मुहूर्त ट्रेडिंग इतना लोकप्रिय क्यों है?

Why is Muhurta Trading so popular

Why is Muhurta Trading so popular

मुहूर्त एक हिंदी शब्द है जिसका अनुवाद ‘शुभ समय’ के रूप में किया जाता है। भारतीय परंपराओं के अनुसार, दीवाली पूजा के आसपास का समय पैसों के लिए सबसे अनुकूल माना जाता है। भले ही एनएसई और बीएसई जैसे एक्सचेंज हर साल मुहूर्त ट्रेडिंग का समय निर्धारित करते हैं, यह आम तौर पर दीवाली पूजा (त्योहार की शाम को आयोजित) के साथ मेल खाता है।

मुहूर्त ट्रेडिंग की लोकप्रियता के कारण:

एंजल वन लिमिटेड के चीफ ग्रोथ ऑफिसर, प्रभाकर तिवारी ने बताया कि इसके कई कारण हैं। त्योहार की भावना इनमें से एक है, जिसे मुहूर्त व्यापार की लोकप्रियता का श्रेय दिया जा सकता है। भारतीय समाज में संस्कृतियों और मान्यताओं के बीच कई उप-विभाजन हैं और इनकी एक विस्तृत श्रृंखला के साथ, यह आम समझ है कि दिवाली नए वित्तीय निवेश शुरू करने का सबसे अच्छा समय है। इसलिए, निवेशक और कारोबारी इस शुभ समय का उपयोग प्रतीकात्मक निवेश के लिए करते हैं और यही इसकी लोकप्रियता का प्रमुख कारण है।

Diwali Muhurat Trading 2021: जानें मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्व, समय और जरूरी बातें

Diwali Muhurat Trading 2021: जानें मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्व, समय और जरूरी बातें

Diwali Muhurat Trading Timing 2021: वैसे तो दिवाली के दिन शेयर बाजार (Share Market) बंद रहता है. लेकिन हर साल दिवाली के दिन मार्केट में एक घंटे का स्पेशल ट्रेडिंग सेशन होता है, जिसे मुहूर्त ट्रेडिंग कहा जाता है. मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान बाजार में निवेश करना शुभ माना जाता है.

मुहूर्त ट्रेडिंग टाइमिंग-

इस साल भी दिवाली के दिन 4 नवंबर को एक घंटे के स्पेशल ट्रेडिंग सेशन 'मुहूर्त ट्रेडिंग' का आयोजन होगा. ये ट्रेडिंग शाम 6.15 बजे से 7.15 बजे तक चलेगी. आप इस दौरान तीनो सेगमेंट इक्विटी, फ्यूचर एंड ऑप्शन और करेंसी और कमोडिटी मार्केट में ट्रेड कर सकेंगे.

ब्लॉक डील के लिए शाम 5.45 से 6 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है. प्री-मार्केट सेशन शाम 6 बजे खुलेगा और 8 मिनट चलेगा. प्री मार्केट सेशन शाम के 6:08 मिनट पर बंद होगा.

मुहूर्त ट्रेडिंग का महत्त्व-

अगर आप हिंदू फैमिली से ताल्लुकात रखते हैं तो आपने 'मुहूर्त' शब्द जरूर सुना होगा. माना जाता है, 'मुहूर्त' एक शुभ समय होता है जिसके दौरान ग्रह खुद को इस तरह सेट करते हैं कि इस दौरान किए गए कार्य अच्छे परिणाम देते हैं. आसान शब्दों में 'मुहूर्त' समय में किए गये काम को शुभ माना जाता है.

मान्यताओं के अनुसार, मुहूर्त ट्रेडिंग के एक घंटे के दौरान कारोबार करने वाले लोग साल भर अच्छा धन कमाते हैं.

हिंदू कैलेंडर के अनुसार नववर्ष की शुरुआत दिवाली के दिन से होती है. 4 नवंबर 2021 को विक्रम संवत 2078 की शुरुआत होगी. इसी के साथ गुजरात जैसे भारत के कई हिस्सों में नये वित्त साल की शुरुआत होती है.

Muhurat Trading कि विशेषताएं

  • मुहूर्त ट्रेडिंग सिर्फ एक घंटे के लिए कि जाती है।
  • दिवाली के दिन छुट्टी होने के बावजूद शेअर मार्केट मुहूर्त ट्रेडिंग के लिए खुलता है।
  • मुहूर्त ट्रेडिंग का टाईम ज्योतिष शास्त्र के अनुसार तय किया जाता है।
  • मुहूर्त ट्रेडिंग में किया गया निवेश शुभ माना जाता है।

हिंदू धर्म में किसी काम को करने से पहले अच्छा शुभ मुहूर्त देखकर करने कि परंपरा है। इसी परंपरा के तहत दिवाली के दिन शेअर मार्केट में निवेश करने कि परंपरा चली आ रही है।

भारत में, स्टॉक एक्सचेंजेस द्वारा मुहूर्त ट्रेडिंग का संचालन अब करीब 50 वर्षों से किया जा रहा है। Muhurat Trading कि शुरुआत सबसे पहले BSE पर 1957 में हुई थी। इसके बाद NSE ने भी 1997 में मुहूर्त ट्रेडिंग कि शुरुआत की। तब से लेकर अब दोनों स्टॉक एक्सचेंजों पर हर साल दिवाली में एक घंटे की Muhurat trading का आयोजन किया जाता है।

आप मुहूर्त ट्रेडिंग से कैसे लाभ उठा सकते है।

दिवाली में लक्ष्मी पूजन का समय बहुत हि शुभ होता है। इस समय किया गया निवेश लंबे समय तक अच्छा रिटर्न देने वाला माना जाता है।

इसलिए मुहूर्त ट्रेडिंग सेशन में हमें अच्छे और मजबूत कंपनियों के शेअर्स में निवेश करना चाहिए। मुहूर्त ट्रेडिंग का समय एक मोका होता है निवेशको को अपने निवेश का पुनः विचार करने का।

इस दिन आप अपने Portfolio में से बेकार के शेअर्स को बेचकर कुछ नए शेअर्स खरीद सकते है। यानी आप portfolio diversification कर सकते है।

ध्यान रखें कि यह ट्रेडिंग सेशन सिर्फ एक घंटे के लिए ओपन होता है। इसलिए आप अपना पुरा ट्रेडिंग प्लान पहले से तैयार रखें।

muhurat trading उन लोगों के लिए भी एक अच्छा समय है जो स्टॉक मार्केट में पहली बार निवेश करने का विचार कर रहे हैं। स्टॉक मार्केट में निवेश करने कि शुरुआत Zerodha में Demat Account खोलकर कर सकते हैं। Zerodha इंडिया का नं १ स्टॉक ब्रोकर है।

निष्कर्ष

भारत में मुहूर्त ट्रेडिंग 50 मुहूर्त ट्रेडिंग का समय सालों से चली आ रही एक परंपरा है। जिसमें निवेशक लक्ष्मी पूजन के समय अपने पैसों को स्टॉक मार्केट निवेश करना शुभ मानते है। इसके साथ ही नए निवेशकों के लिए शेअर मार्केट में शुरुआत करने का यह एक शुभ समय हो सकता है।

आपको दिवाली और मुहूर्त ट्रेडिंग कि शुभकामनाएं!

F&Q

मुहूर्त ट्रेडिंग एक घंटे के लिए होती है।

24 अक्टूबर 2022 को सोमवार शाम 6.15pm से 7.15pm के बिज में 2022 कि muhurat trading होने वाली है।

हर वो भाग ले सकता है जिसके पास Demat Account है।

हां! आप मुहूर्त ट्रेडिंग में इंट्राडे कर सकते है।

Open a Demat account with zerodha and upstox and start your investment journey today!

रेटिंग: 4.15
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 222
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *