मुद्रा जोड़े

डे ट्रेडिंग

डे ट्रेडिंग
अब अपना ट्रेडिंग अकाउंट कैसे खोले और ट्रेडिंग अकाउंट से जोड़ी जरुरी जानकारी को जानने के लिए हमारी नीचे दी गई पोस्ट पढ़े .

Stock Market Investment Stock Split Bonus Share

Intraday Trading क्या है – Day Trading क्या है जाने शेयर ट्रेडिंग के डे ट्रेडिंग बारे में हिंदी में

ट्रेडिंग से पैसे कमाने का तरीका लोगो को बहुत पसंद आता है खास कर तब जब उन्हें एक ही दिन के अन्दर ट्रेडिंग करके मुनाफा कमाने को मिले .

Intraday Trading एक ही दिन के अन्दर ट्रेडिंग करके के पैसे कमाने का सबसे आसान तरीका है . इंट्रा डे ट्रेडिंग कि मदद से लोग रोजाना हजारों रूपये कमा लेते है .

अगर आप भी इंट्राडे ट्रेडिंग करके रोज शेयर मार्केट से पैसे कमाना चाहते है तो आपको ट्रेडिंग के बारे में पूरी जानकारी होना चाहिए .

क्योंकि ट्रेडिंग एक जोखिम भरा व्यापार है और इसमें आपको नुकसान भी हो सकता है . तो ट्रेडिंग के बारे में जानने के लिए हमारी नीचे दी गई पोस्ट को पढ़े .

चलिए अब जानते है Intraday Trading Vs Day Trading में क्या अंतर है ?.

प्रिश्न पर पर क्लिक करे और उत्तर पर जाए !

Intraday Trading Vs Day Trading Kya Hai

Intraday ट्रेडिंग और Day ट्रेडिंग दरअसल एक ही है. एक ही दिन में कि जाने वाली ट्रेडिंग को कुछ लोग इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है और कुछ लोग डे ट्रेडिंग कहते है . लेकिन डे ट्रेडिंग लोगों के बीच सबसे ज्यादा इंट्राडे ट्रेडिंग शब्द प्रचलित है .

चलिए अब इंट्राडे ट्रेडिंग शब्द का मतलब जानते है .

Intradday Trading Meaning in Hindi

Intraday Trading का मतलब हिंदी में = “एक दिन में होने वाली व्यापारिक क्रिया”, आसान भाषा में कहे तो, शेयर मार्केट में एक दिन के अन्दर Share कि खरीदी और बिक्री को हम Intraday Trading कहते है .

चलिए अब जानते है इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है ?

Intraday Trading Kya Hai

शेयर मार्केट के सुबह 9:15 AM पर खुलने से लेकर दोपहर 3:20 PM तक शेयर को खरीदने और बेचने को हम इंट्राडे ट्रेडिंग कहते है .

इंट्राडे ट्रेडिंग एक दिन के अन्दर ही शेयर को खरीद कर और बेच कर कि जाती है. लेकिन इसमें शेयर मार्केट के खुलने और बंद होने का समय बहुत मायने रखता है .

क्योंकि शेयर मार्केट 9:15 AM पर सुबह खुल जाती है, तो आप मार्केट खुलने के बाद स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनी के शेयर खरीद सकते है .

और शेयर मार्केट 3:30 PM पर दोपहर में बंद हो जाती है और आपको इंट्राडे ट्रेडिंग में शेयर मार्केट के बंद होने से पहले शेयर को 3:20 PM तक हर हाल में बेचना होता है .

अगर आप शेयर को नहीं बेचते तो भी शेयर इंट्राडे ट्रेडिंग में आपके अकाउंट से आखरी कीमत पर बिक जाते है .

इंट्राडे ट्रेडिंग करने के लिए लिए आपके पास अपना Trading Account होना चाहिए क्योंकि आप बिना ट्रेडिंग अकाउंट के शेयर मार्केट में ट्रेडिंग नहीं कर सकते .

Demat Account: कोरोना काल में कमाई के लिए लोगों ने जमकर की स्‍टॉक्‍स की ट्रेडिंग, डीमैट खाते की संख्‍या पहुंची 10 करोड़ के पार

By: ABP Live | Updated at : 21 Sep 2022 06:48 PM (IST)

Demat Account: साल 2020 में कोरोना वायरस संक्रमण बढ़ने और लॉकडाउन के कारण लोगों के रोजगार चले गए, कारोबार ठप पड़ गया. घर बैठे कमाई करने का सबसे बेहतर जरिया बना शेयर बाजार में कारोबार (Stock Market Trading). घर बैठे ऐसे लोगों का रुझान स्‍टॉक ट्रेडिंग की तरफ बढ़ा. इसके अलावा, युवाओं ने भी शेयर बाजार में दिलचस्‍पी लेनी शुरू की. मतलब म्‍यूचुअल फंडों की तुलना में बेहतर मुनाफा अर्जित करने के लिए डायरेक्‍ट स्‍टॉक में निवेश करने का फैसला किया. जब आप स्‍टॉक्स में डे-ट्रेडिंग (Day-Trading) करते हैं तो नफा या नुकसान आपके बैंक खाते में शाम तक आ जाता है. यही वजह रही कि मार्च 2020 और मार्च 2022 के बीच 4,88,00,000 डीमैट खाते खोले गए.
देश में दो डिपॉजिटरीज हैं- CDSL और NSDL. जनवरी 2020 में सीडीएसएल के साथ खोले गए डीमैट खातों की संख्‍या 2 करोड़ थी जो अगस्‍त 2022 में बढ़ कर 7 करोड़ हो गई. एनएसडीएल और सीडीएसएल को मिलाकर देखें तो देश में डीमैट खातों की संख्‍या अब 10 करोड़ डे ट्रेडिंग के पार पहुंच गई है.

भारतीय शेयर बाजार ने दिया शानदार रिटर्न

3 मार्च 2020 को बीएसई का सेंसेक्‍स 38623 के स्‍तर पर था. खबर लिखे जाते समय सेंसेक्‍स 59,352.27 के स्‍तर पर था. 19 अक्‍टूबर 2021 को सेंसेक्‍स ने 62245.43 का स्‍तर छूते हुए ऊंचाई का नया रिकॉर्ड बनाया था. अगर किसी निवेशक ने म्‍यूचुअल फंडों के सेंसेक्‍स ईटीएफ के जरिए भी निवेश किया होता तो वे मालामाल हो गए होते. हम उदाहरण लेते हैं SBI S&P BSE Sensex ETF की. अगर आपने इसमें 10,000 रुपये का निवेश 3 मार्च 2020 को किया डे ट्रेडिंग होता तो आज की तरीख में वह 16,135 रुपये हो गया होता. मतलब कुल लाभ 61.36 प्रतिशत का और सालाना रिटर्न 20.61 फीसदी का.

आप किसी भी फाइनेंशियल एडवाइजर से बात करें, वह आपको यही सलाह देंगे कि लंबी अवधि में संपत्ति के सृजन के लिए आपको इक्विटी यानी शेयरों में निवेश करना चाहिए. अगर आप जानकार हैं तो खुद से शेयरों का चयन कर सकते हैं और उनमें निवेश कर सकते हैं. अगर आपको शेयर ाजार की जानकारी नहीं है तो आपका काम आसान करने के लिए म्‍यूचुअल फंड हैं. बाजार में विभिन्‍न समयावधि और जोखिम उठाने की क्षमता के अनुरूप म्‍यूचुअल फंड प्रोडक्‍ट्स उपलब्‍ध हैं. तो आप भी खुलवाइए डीमैट खाता और शुरू कीजिए शेयरों में निवेश का अपना सफर.

intraday trading : जानिए इंट्रा डे ट्रेडिंग क्या है

इंट्रा डे ट्रेडिंग (intraday trading), जैसा कि नाम से समझ आ जाता है, एक दिन भर के अन्तराल (Same day ) में की जाने वाली खरीद और बिक्री (share purchase & Sale), एक शेयर (Share ) को जिस दिन ख़रीदा जाये, उसी दिन उस शेयर को मार्केट बंद होने से पहले बेच भी दिया जाये, तो इस तरह कि Trading को इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा (Intraday Trading) जाता है।

इंट्रा डे ट्रेडिंग (INTRADAY TRADING) की खास बातें :

1- अगर आप ब्रोकर से मार्जिन लेकर ट्रेड डे ट्रेडिंग करते है तो ऐसे में, आपको अपना सौदा उसी दिन पूरा करना होता है, अगर आप मार्केट बंद होने से पहले खुद सौदे को पूरा नहीं करते है तो मार्केट बंद के समय शेयर का भाव जो भी होगा, आपका ब्रोकर उसे बेचकर अपना मार्जिन मनी ले लेगा।

Read more : Stock market : स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करने से पहले जान लें ये जरूरी बातें

3- ब्रोकर को आपको होने वाले फायदे या नुकसान से कोई लेना देना होना होता है, आपने जो भी मार्जिन मनी लिया हुआ, उसको उतना मार्केट बंद होने से पहले वो वापस चाहिए होता है।

4- आप को इंट्रा डे ट्रेडिंग में सौदों को एक दिन में ही पूरा करना होता है, जैसे आज ख़रीदा तो आज ही बेचा और इस तरह आप सिर्फ एक दिन का ही रिस्क उठाते है।

5- शेयर मार्केट की पूरी डे ट्रेडिंग जानकारी होने पर ही इंट्राडे ट्रेडिंग करनी चाहिए क्योंकि इसमें उतार-चढ़ाव बहुत तेजी के साथ होता है और नये निवेशक इसमें अक्सर करके फंस जाते हैं।

Author : Nitin Bansal

Disclaimer : यह केवल लेखक के विचार हैं । किसी भी नुकसान या फायदे के लिए लेखक या Aavaz.in उत्तरदायी नहीं होगा ।

निवेशकों के लिए जरूरी जानकारी: इंट्रा-डे ट्रेडिंग पर जानें, कैसे लगेगा आयकर

सांकेतिक तस्वीर.

कोविड- 19 महामारी के अनिश्तिता भरे दौर में निवेशक अब शेयर बाजार में लंबे समय तक पैसा लगाने के बजाए इंट्रा-ट्रेडिंग में हाथ आजमाने लगे हैं। नौकरीपेशा व आम आदमी भी इंट्रा-डे ट्रेडिंग में पैसे लगाना पसंद करता है। ऐसे निवेशकों के लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि इंट्रा-डे ट्रेडिंग से हुई कमाई पर आयकर गणना कैसे की जाएगी। पेश है प्रमोद तिवारी की रिपोर्ट-

कारोबार से हुई कमाई माना जाएगा मुनाफा
शेयर बाजार के जानकार कुंज बंसल का कहना है कि निवेशक जब एक दिन के भीतर ही स्टॉक की खरीद-फरोख्त करता है तो उसे इंट्रा-डे ट्रेडिंग कहते हैं। इस तरह ट्रेडिंग का मकसद निवेश करना नहीं, बल्कि बाजार में उतार-चढ़ाव से मुनाफा कमाना है।

विस्तार

कोविड- 19 महामारी के अनिश्तिता भरे दौर में निवेशक अब शेयर बाजार में लंबे समय तक पैसा लगाने के बजाए इंट्रा-ट्रेडिंग में हाथ आजमाने लगे हैं। नौकरीपेशा व आम आदमी भी इंट्रा-डे ट्रेडिंग में पैसे लगाना पसंद करता है। ऐसे निवेशकों के लिए ये जानना बेहद जरूरी है कि इंट्रा-डे ट्रेडिंग से हुई कमाई पर आयकर गणना कैसे की जाएगी। पेश है प्रमोद तिवारी की रिपोर्ट-

कारोबार से हुई कमाई माना जाएगा मुनाफा
शेयर बाजार के जानकार कुंज बंसल का कहना है कि निवेशक जब एक दिन के भीतर ही स्टॉक की खरीद-फरोख्त करता है तो उसे इंट्रा-डे ट्रेडिंग कहते हैं। इस तरह ट्रेडिंग का मकसद निवेश करना नहीं, बल्कि बाजार में उतार-चढ़ाव से मुनाफा कमाना है।

लिहाजा ऐसे मुनाफे को कारोबार से हुई कमाई माना जाएगा। ट्रेडिंग करते समय भी जब निवेशक स्टॉक खरीदेगा तो भी उसे यह बताना पड़ेगा कि संबंधित स्टॉक को इंट्रा-डे के लिए खरीदा जा रहा अथवा डिलीवरी के लिए। यहां डिलीवरी का मतलब स्टॉक को एक दिन से ज्यादा समय के लिए रखना है।

क्या होती है इंट्रा डे ट्रेडिंग

इंट्रा डे ट्रेडिंग का मतलब एक सत्र के अंदर ही कारोबार को पूरा करना होता है। आमतौर पर शेयर बाजार सुबह सवा 9 बजे से दोपहर बाद साढ़े तीन बजे तक खुला रहता है। अगर कोई कारोबारी सुबह कोई खरीद या बिक्री का सौदा करता है और शाम को इसी सौदे का उल्टा, यानी सुबह की खरीद पर शाम को बिक्री या फिर सुबह की बिक्री पर शाम को खरीद करता है तो इससे उसकी पोजीशन खत्म हो जाती है और एक ही दिन में वो वास्तविकता में बिना पैसे लगाए मुनाफा कमा लेता है। इसे ऐसे समझिए कि अगर कोई शख्स सुबह किसी शेयर को 100 रुपये में खरीदता है और शाम को वो 102 रुपये में इसी शेयर को बेच देता है तो अकाउंट में सुबह एक शेयर जुड़कर शाम को एक शेयर घट जाता है यानी बैंलेंस शून्य रहता है। वहीं खाते से 100 रुपये कटते हैं लेकिन 102 रुपये मिलते हैं यानी खाते में 2 रुपये बढ़ जाते हैं। इसका मतलब यह है कि आपके पोर्टफोलियो में बिना कोई शेयर बढ़े या घटे आपके बैंक खाते में 2 रुपये बढ़ जाते हैं।

क्यों ट्रेडर्स करते हैं इंट्रा-डे ट्रेडिंग

इंट्रा डे ट्रेडिंग काफी जोखिम भरा काम है लेकिन इसमें माहिर ट्रेडर्स के लिए ये छोटी रकम से मोटा मुनाफा कमाने का तरीका भी है। दरअसल इंट्रा डे की मदद से आप एक ही रकम को बार बार इस्तेमाल कर हर ट्रेड से मुनाफा कमा सकते है। इसमें हर शाम पोजीशन खत्म करने से आपकी रकम अगले दिन नए सौदे के लिए फ्री हो जाती है। हालांकि इसमें जोखिम काफी ज्यादा होता है, ऐसे में इंट्रा डे सौदे करने के लिए या तो आपके पास बाजार की अच्छी समझ होनी चाहिए या फिर आपके पास बाजार को समझने वाला एक सलाहकार होना चाहिए। 5paisa आपको इसी तरह बाजार से जुड़ी अपनी टिप्स देता है जिसके जरिए आप इंट्रा डे में यानी एक दिन में ही बाजार में कमाई कर सकते हैं।

Stock Market Investment : Know all about bonus share

एफएंडओ स्टॉक्स में इंट्रा-डे ट्रेडिंग

इंट्रा-डे ट्रेडिंग एक स्ट्रैटजी होती है जो किसी भी एसेट में एक सत्र के दौरान मूल्यों में आए तेज बदलाव का फायदा उठाने के लिए इस्तेमाल की जाती है। इसमें निवेशक का पैसा काफी कम समय के लिए बाजार में रहता है और तेजी से ट्रेड की वजह से कुल रकम पर रिटर्न बेहद ऊंचे हो जाते हैं। इस रणनीति का फायदा एफएंडओ में भी उठाया जाता है जहां डेरिवेटिव्स में एक सत्र के दौरान आए तेज उतार-चढ़ाव से ऊंचे रिटर्न बनाए जाते हैं। वहीं एफएंडओ स्टॉक्स में इंट्रा-डे ट्रेडिंग का एक और फायदा मिलता है। दरअसल, मार्जिन की वजह से एफएंडओ स्टॉक्स में ट्रेड कॉन्ट्रैक्ट वैल्यू के काफी कम अमाउंट पर किया जा सकता है यानी आप जितनी रकम सामान्य स्टॉक्स की ट्रेडिंग में लगाते हैं उतनी ही रकम से एफएंडओ में इससे कहीं ज्यादा बड़े सौदे कर सकते हैं। अगर आपकी गणित सही रहा तो एफएंडओ स्टॉक में इंट्रा डे रणनीति से आप अपना फायदा उतनी ही रकम पर कई गुना बढ़ा सकते हैं।

रेटिंग: 4.79
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 141
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *